भूतिया सड़क की कहानी।

भूतिया सड़क की कहानी

Bhutiya Sadak Ki Kahani Haunted Road Horror Story In Hindi Moral Real Horror Story To Read, Darawani Short Chudail Bhoot Ki Hindi Kahani Film, Short Moral Bhutiya Hunted Stories, New Real Ghost Horror Story In Urdu, Koo Koo TV Horror, डायन, चुड़ैल, आत्मा की कहानियाँ

भूतिया सड़क की कहानी - (Bhutiya Sadak) Horror Story In Hindi

16 जुलाई 2012 कसेड़ी घाट, चार दोस्त अनिकेत, साहिल, राजीव, और अमित सब Holliday Enjoy करने के बाद रात में वापस घर लौट रहे थे।

अमित – अरे यार कब ये रास्ता ख़त्म होगा.. दो घंटे से इसी रास्ते पर भटक रहे है बैठे-बैठे कमर में मोच आ चुकी है।

राजीव – हां यार साहिल तुझे इस रास्ते के बारे में पता भी है या ऐसे ही गाड़ी को भगाये जा रहा है।

साहिल – पता नहीं यार दिन में तो ये रास्ता जल्दी कट जाता है ना जाने इस वक्त ऐसा क्या हो रहा है और वैसे भी मै रात में कभी इस रास्ते से सफर नहीं किया, दिन में दो से तीन बार यहाँ से गुजरा हूँ रात का एक्सपीरियंस तो मुझे भी नहीं है।

वो आपस में बात ही कर रहे थे की तभी उन्हें पीछे से एक ट्रक की तेज हॉर्न सुनाई देती है वो गाड़ी लगातार इनकी गाड़ी को ओवरटेक करने की कोशिश कर रही थी।

अमित – कैसा ड्राइवर है पीकर गाड़ी चला रहा है क्या।

इतने में उस ट्रक ने इनकी गाड़ी को एक तेज टक्कर दी और लगातार हॉर्न बजाता रहा।

अनिकेत – साहिल साइड दे उसको वरना ऐसा लगता है की ये हमें मारने के इरादे से आया है।

साहिल उस ट्रक को साइड दे देता है और वो गाड़ी सीधा आगे निकल जाती है।

साहिल – तुम लोगो ने उस गाड़ी को देखा ऐसा लग रहा था की जैसे खंडर से निकाला हो, ऐसा लगता है 200 साल पुरानी ट्रक है।

वो लोग इस इंसीडेंट से घबड़ा गए थे तक़रीबन 10 मिनट बाद गाड़ी एक पुराने कब्रिस्तान से गुजरती है उस हाईवे पर एक कब्रिस्तान भी पड़ता था गाड़ी जैसे ही उस कब्रिस्तान से गुजरती है उन्हें कब्र के पास वही पुरानी ट्रक दिखती है जो थोड़ी देर पहले उनकी जान की दुश्मन बनी थी।

राजीव – साहिल गाड़ी रोक वो देख।

अमित – अरे ये तो वही ट्रक है जिसने हमें परेशान कर दिया था।

साहिल – मुझे लगता है की हमें एक बार जाकर देखना चाहिए की बात क्या है।

अमित – तू पागल हो गया है क्या.. आधी रात इस तरह कब्रिस्तान में जाने की बात कर रहा है अरे मरना है क्या।

अमित उन्हें वहा जाने से रोकने की कोशिश करता है लेकिन तभी उन्हें उसी ट्रक से एक आदमी उतरता दीखता है जिसने काले कपड़े पहने हुए थे और उसके सर पर एक टोपी था वह लगभग 7 फ़ीट लम्बा और हट्टा-कट्टा था यह देखकर ना जाने क्यो सबकी उत्सुकता और बढ़ गयी और अमित के अलावा सभी उस आदमी के बारे में पता लगाने के लिए उत्सुक हो गए।

सभी उस आदमी के पीछे जाते है और अमित को भी मजबूरन उन तीनो के साथ जाना पड़ता है। चारो जब उस ट्रक के दिवार के पास पहुंचे तो उनका दिल बैठ गया।

उन्होंने जो देखा उसे देखने के बाद उनके रोंगटे खड़े हो गए। उन्होंने देखा की एक ट्रक ड्राइवर कब्र खोदकर लाशो को निकाला और उसे बेरहमी से खाये जा रहा था वह जिस्म के हर एक अंग को निकालकर गन्दी तरह से खाये जा रहा था।

अनिकेत – भाई ये कौन सा राक्षस है.. निकलो यहाँ से जल्दी से।

हड़बड़ाहट में सब वहा से एक साथ भागे लेकिन अमित इतना डरा था की वह हिल भी नहीं पाया कदमो की आवाज सुनकर उस सैतान को पता चल गया की कोई उस पर नजर रख रहा है। वह जैसे ही पीछे पलटा उसे वह तीन लड़के भागते और एक वहा खड़ा दिखा।

वह सैतान अमित के करीब पंहुचा और उस सैतान ने सीधा अमित के गले पर वॉर किया और एक ही वॉर में अमित की दर्दनाक चीख निकली और इसके साथ ही अमित की वही मौत हो गई।

यहाँ तीनो तेजी से गाड़ी की तरफ भागने लगे और गाड़ी के पास पहुंचे और गाड़ी में बैठ गए वह सैतान अब तक उनके पिच नहीं भागा था बल्कि दूर से ही खड़ा उन्हें घुर रहा था।

साहिल गाड़ी स्टार्ट करने की पूरी कोशिश कर रहा था लेकिन उसकी कार स्टार्ट ही नहीं हो रही थी तभी वह दूर खड़ा सैतान धीरे-धीरे उनके तरफ बढ़ता है और वह लगभग गाड़ी के नजदीक पहुंच गया था तभी गाड़ी स्टार्ट हो गयी और तेजी से साहिल गाड़ी को आगे बढ़ाने लगा।

वह सैतान इन तीनो के पीछे पड़ चूका था और तभी वह हवा में उड़ा और सीधा गाड़ी पर कूद गया और जैसे ही अनिकेत उसे देखने के लिए अपनी मुंडी गाड़ी से बाहर निकाली तभी उस सैतान ने अनिकेत का सर अपनी भारी तलवार से काटकर अलग कर दिया और उसका अधकटा शरीर गाड़ी में ही फड़फड़ाने लगा यह देखकर साहिल और राजीव दोनों डर गए और दोनों जान बचाने के लिए चलती गाड़ी से कूद गए।

वे दोनों घास के मैदान में गिरे जिससे उन्हें कम चोट आयी वे दोनों साँस दबाये घास में लेटे रहे लेकिन उनके डर को उस सैतान ने मह्सुश कर लिया और फिर सैतान को राजीव एक कोने में दिखा तभी वो सैतान अपने लम्बे नाख़ून और धार दार तलवार से राजीव पर वॉर किया जिससे उसकी दर्दनाक चीख निकल आयी और उसकी मौत हो गई।

उस सैतान ने साहिल को नहीं देखा था और साहिल भी राजीव की मौत के वक्त वहा से निकल चूका था जिसकी वजह से वो बच गया उस रात कसेड़ी घाट हाईवे पर जो भयानक हादसा उनके साथ घटा उससे सभी को ये सिख लेनी चाहिए की अँधेरी रातो में भूतिया रास्ते से गुजरने का अंजाम कितना खौफनाक हो सकता है।

कहते है उस भूतिया सड़क के कहानी में कोई सैतान है जो हर रात 12 से 3 के बिच अपने पुराने खतरनाक ट्रक से अपने शिकार का पीछा करता है और उसे मरकर कब्रिस्तान में दफ़न कर देता है और अगली रात उसे कब्र से निकालकर उसके जिस्म के टुकड़ो को खाता है जिससे वो अमर रह सके।


Read Also :-

Share With Your Friends