How To Control Your Mind In Hindi – अपने मन पर काबू कैसे पाएं।

अपने मन पर काबू कैसे पाएं

How To Control On Your Mind In Hindi Inspirational and Motivational Story In Hindi Here, You Can Read Latest Collection Short Motivational Speech In Hindi For Students Life Lessons Motivational Quotes Success Story And Tips

अपने मन पर काबू कैसे पाएं। How To Control Your Mind In Hindi

अपने मन पर काबू कैसे पाएं – एक बार एक व्यक्ति अपने काम से लौट कर घर आया और साथ में पनीर लाया और अपनी पत्नी को कहाँ की आज मेरे लिए बढ़िया पनीर की सब्जी बनाना क्योंकि आज मैंने बहुत काम किया है और मुझे बहुत ज्यादा भूख लगी है और मुझे कुछ बहुत अच्छा खाना है।

उसकी पत्नी कमरे से बाहर आयी और पनीर लिया और कहाँ की बिलकुल आप हाथ-पैर धो कर तैयार हो जाईये मैं आप के लिए बहुत ही स्वादिस्ट सा खाना बनाती हूँ।

वो व्यक्ति फ्रेश हो गया और टीवी देखने लगा और इंतजार करने लगा सब्जी के बनने का ताकि वो उसे कहाँ सके। किचन से बहुत अच्छी खुशबू आ रही थी वो व्यक्ति बस सोच रहा था की जल्दी से खाना बन जाये ताकि मैं अपनी भूख को मिटा सकू।

लगभग, एक घंटे के बाद खाना बन कर तैयार हो गया। स्वादिस्ट सा भोजन, अब खाना लगने ही वाला था की उस व्यक्ति ने अपनी पत्नी से पूछा की खाने में नींबू है की नहीं क्योंकि मुझे पनीर की सब्जी में नींबू डालकर खाना है लेकिन पत्नी ने कहाँ की नींबू तो ख़त्म हो गए आप से कहाँ था लेकिन आप भूल गए।

व्यक्ति ने अपनी पत्नी से कहाँ की रुको-रुको अभी खाना मत लगाओ क्योंकि नींबू के बिना खाने में बिलकुल मज़ा नहीं आएगा तो मैं अभी गया और अभी निम्बू लेकर आया।

वो व्यक्ति वापस से कपड़े पहन कर तैयार हुआ और नींबू की पास वाली दुकान पर गया जब वहाँ पर देखा तो नींबू नहीं थे। उसका दिमाग क्रोध से भर गया उसने सोचा की यार उसके पास नींबू नहीं है चलो थोड़ी आगे वाली दूकान पर जाता हूँ सायद वहाँ नींबू मिल जायेगा।

वो थोड़ा और आगे गया लेकिन वहाँ पर भी नींबू नहीं मिले। अब उसने सोचा दूर की सब्जी मंडी चला जाता हूँ वहाँ से नींबू लेकर आऊंगा क्योंकि नींबू के बिना सब्जी में मज़ा नहीं आएगा। 

करीबन आधे-घंटे के बाद वो करीब के सब्जी मंडी में पहुंचा वहां पर उसे नींबू मिल गया और वो बहुत खुश हुआ की चलो नींबू मिल गया और अब मैं घर में जाऊंगा और सब्जी में नींबू डालकर अच्छे से सब्जी खाऊंगा अब वह ख़ुशी-ख़ुशी नींबू लेकर घर आया और अपनी पत्नी से कहाँ की जल्दी से सब्जी गरम कर दो, रोटी गरम कर दो और नींबू काट ताकि मैं अच्छे से खाना खा सकू।

अब अब थाली लगाई गयी, सब्जी परोसी गयी और नींबू रखी गयी उसकी पत्नी सामने ही बैठी थी और वो व्यक्ति थोड़ी देर के लिए कुछ सोच में पड़ गया उसके बाद उसने नींबू की प्लेट उठायी और दरवाजे से बहार की ओर फेक दी और जोर-जोर से चिल्लाने लगा मैं जीत गया, मैं जीत गया।

पत्नी ये देख कर घबड़ा गयी की कही ये पागल तो नहीं हो गए इन्होने सारे के सारे नींबू दरवाजे से बाहर की ओर क्यों फेक दिया। उस पत्नी ने उस व्यक्ति पर चिल्लाया और कहाँ की आप पागल हो गए है अभी तो इतनी देर तक नींबू के बारे में पूछ रहे थे और अभी जब नींबू घर पर ले आये और खाने बैठ गए तो आप ने इन नीबुओं को दरवाजे से बाहर फेक दिया और अब चिल्ला रहे हो की मैं जीत गया, मैं जीत गया ! पत्नी पूछी आप किस चीज़ में जीत गए, हुआ क्या ?

अब व्यक्ति ख़ुशी-ख़ुशी बैठ गया और अपनी पत्नी से कहाँ आप भी बैठो, इत्मीनान रखो बताता हूँ की क्या हुआ। आज सुबह से ही मेरी जीत मुझे अपने बस में करने की कोशिश कर रही थी जब मैंने बहुत काम कर लिया तब मुझे बहुत तेज़ भूख लगी जब मैं घर पर आया तो तुमने बहुत ही स्वादिस्ट सब्जी बनाई उसकी खुशबू मेरी नाक में गयी फिर मेरी जीभ ने कहाँ की इसे अब नींबू चाहिए।

मैं पास वाली दुकान पर गया लेकिन वहा नींबू नहीं मिले थोड़ी और दूर गया वहाँ पर भी नहीं मिले तो मुझे उसने और दूर लेकर गयी मैं उसके वश में आ गया और जैसी ही वह कहती रही वैसा मैं करता गया। अब मैं वैसा ही करता गया जैसा वो मुझसे करवाती गयी लेकिन अंत में मैंने विजय प्राप्त कर ली मैंने उसे उठाकर बहार फेक दिया और कह दिया की तुम्हारा मुझ पर कंट्रोल नहीं है बल्कि मेरा तुमपर कंट्रोल है और मैं जीत गया।

क्या आपको समझ में आया की कैसे अपने इक्छाओ पर विजय प्राप्त करे ?

कई बार लोगो को शराब पिने की आदत लग जाती है और उस चक्रर में वो भटकते रहते है यदि एक जगह नहीं मिलती तो दूसरी जगह जाये है, दूसरी जगह नहीं मिलती तो तीसरी जगह जाते है और अक्सर युवाओ के साथ ऐसा जरूर होता है की वो शराब पिने के लिए बैठते है सारी शराब ख़त्म हो जाती है

उसके बाद एक ना एक व्यक्ति जरूर कहता है की यार और चाहिए, और चाहिए के चक्कर में शराब ढूढ़ने के लिए निकलते है देर रात हो जाती है वो भटकते रहते है एक जगह नहीं मिलती तो दूसरी जगह जाते है, दूसरी जगह नहीं मिलती तो तीसरी जगह जाते है और अपने समय, पैसे, और अपने आप को बर्बाद करते रहते है।

यदि आपने अपनी इन्द्रियों पर विजय प्राप्त नहीं किया तो आप भी नींबू की खोज में सिर्फ भटकते ही रहेंगे और हमेशा परेशान रहेंगे इसीलिए अपनी इन्द्रियों पर काबू पाईये और अपनी जीवन को ख़ुशी-ख़ुशी बिताइए।

आशा करता हु की इस Story के माध्यम से आपको कुछ न कुछ सिख जरूर मिली होगी अगर मिली हो तो अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर जरूर करे ऐसे ही Motivational Speech, Inspirational Story, Quotes और लाइफ में Success कैसे पाए ऐसे नॉलेज के लिए इस ब्लॉग पर आकर पढ़ सकते है।


Read Also :-

Share With Your Friends