How To Stop Bad Habits In Hindi – कैसे पाए बुरी आदतों से छुटकारा।

कैसे पाए बुरी आदतों से छुटकारा

How To Stop Bad Habits In Hindi Buri Aadat Se Chutkara Kaise Paye How Leave Quit Avoid Break Bad Habits In Hindi Way To Get Rid Of Bad Habits Here, You Can Read Latest Collection Short Motivational Speech In Hindi For Students Life Lessons Motivational Quotes Success Story And Tips

How To Stop Bad Habits In Hindi - कैसे पाए बुरी आदतों से छुटकारा।

कैसे पाए बुरी आदतों से छुटकारा – जीवन में कई बार आपको ऐसी आदते लग जाते है जो बचपन से लेकर जवानी तक और जवानी से लेकर बुढ़ापे तक आपका साथ नहीं छोड़ती है कई बार वो आदते बहुत ही छोटी-छोटी सी होती है उनका आपके जीवन पर बहुत ज्यादा कोई असर नहीं पड़ता है।

लेकिन कई बार कुछ छोटी-छोटी से आदते धीरे-धीरे करके बड़ी हो जाती है लेकिन फिर आपके लाख चाहने पर लाख परेशान होने के बाद भी वो आदते आपसे अलग नहीं होती है।

जिसकी वजह से आप बहुत ज्यादा तकलीफ में आ जाते है जीवन में आप सारे काम कीजिये किसी भी काम को
करने में कोई गलत बात नहीं है।

लेकिन जब आप अपनी लिमिट क्रॉस कर किसी काम को बार-बार करते है उसे अपनी आदत बना लेते है तो वो फिर गलत हो जाता है।

तो ये बुरी आदते आपको लगती कैसे है ?

किसी भी काम को बार-बार करके पहली बार आप उसे यही सोच कर करते है कि एक बार ट्राई कर लूंगा उसके बाद कभी नहीं करुंगा, दूसरी बार आप यह सोचते है कि चल एक बार फिर से कर लेता हूँ।

तीसरी और चौथी बार कोई आपका अपना आपके पास आता है और उसे आपको करने के लिए मजबूर कर देता है और आप उसे कर देते है, और धीरे-धीरे करके इतनी बार हो जाता है कि आपसे आपको आदत लग जाती है, और आपको पता भी नहीं चलता है और जब आपको एक बार उसकी आदत लग गयी फिर आप उसको बिना किये रह नहीं पाते।

अब चाहे वो झूठ बोले कि आदत हो , किसी को देखा देने कि आदत हो, सराब पीने कि आदत हो या फिर सिगरेट पीने कि आदत हो।

किसी भी प्रकार कि आदत आपके जीवन के लिए बुरी है गलत है यह बात आपको बहुत अच्छे से पता है आपका बहुत ज्यादा नुकसान ही है यह भी बात आपको बहुत अच्छे से पता है लेकिन आप उसे ख़त्म नहीं कर पाते क्यों, क्योकि आपको आदत लग चुकी है।

आप सोचकर देखिये कि सिगरेट पीते-पीते ये बोलने से कि यह मेरी लास्ट सिगरेट है इसके बाद नहीं पियूँगा, क्या किसी व्यक्ति ने आज तक सिगरेट छोड़ी है शराब छोड़ी है, या फिर और बुरा काम छोड़ा है नहीं छोड़ा है ना।

तो फिर सोच कर देखिये कि आप ऐसे क्यों बोलते है कि आपकी आदते भी इस प्रकार से बोलने से या फिर कमेंट करने से छूट सकती है। बिलकुल नहीं..

इंसान कि एक और आदत होती है जो शायद आज से नहीं जब से पृथ्वी बनी होगी मनुष्य बना होगा तभी से चली आ रही है और वो यह है कि अपने आप को झूठ बोलने कि आदत, अपने आपको धोका देने कि आदत और इसीलिए तो शायद आप भी अपने आपको कई बार धोका देते रहते है।

सोचते रहते है कि सिर्फ बोलने से आप यह कर जायेंगे, जबकि आपको भी पता है कि आप उस बुरी आदत को छोड़ नहीं पाए है और ना ही कभी छोड़ पाएंगे।

यदि वाकई में आप उन बुरी बातो को उन बुरी आदतों को छोड़ना चाहते है, तो आपको वाकई में आज अभी और इसी वक्त से फैसला लेना होगा कि आज के बाद मैं उस चीज को उस काम को कभी नहीं करूँगा।

अरे जब आप इतने बाते सुनते हो समझते हो और सेल्फ कंट्रोल नाम कि एक बात भी सुनते हो तो कहा गया आपका सेल्फ कंट्रोल अपने आपसे पूछिए।

क्या अपने आप को कंट्रोल कर सकते है ?

यदि आपने आज अपने आप से वादा किया है तो क्या आज, कल परसो एक सप्ताह एक महीना आप अपने आप पर कंट्रोल कर पाए, पूछिए अपने आप से और यदि कंट्रोल नहीं कर पाए फिर से वही चीज़ कि, तो अपने आपको एक जगह पर बिठाइये और अपने आप से पूछिए कि कौन सी ऐसी चीज़ है जो आपको उन बुरी बातो और बुरी कामो को करने पर मजूबर कर रही है।

अपने आप से पूछिए कि क्या उस चीज़ के बिना आपका जीवन चल नहीं सकता, उसकी वजह से जो आपका जीवन खराब हो रहा है तो क्या आप ऐसी ही अपने जीवन को खराब होने देंगे।

माना कि पहले-पहले आपको उन चीज़ो को करने में बड़ा मज़ा आता था बड़ा अच्छा लगता था आपको जन्नत वाला फीलिंग आती थी लेकिन आपको खुद पता है वो चीज़ वो आदत वो जन्नत नहीं है, बल्कि वो जहन्नुम है और आप खुद अपने आपको उस जहन्नुम से बहार निकल सकते है।

अपने आप से कमिट करके कि जब तक मेरी मरने जैसी हालत नहीं हो जाती मैं उस चीज़ को उस काम को कभी नहीं करूँगा।

मुझे बहुत अच्छे से पता है कि जब आप किसी चीज़ को छोड़ने का ट्रॉय करते है तो वही चीज़ बार-बार आपके सामने आती है आपको वही चीज़ बार-बार करने का मन करता है लेकिन आप अपने आप को मनाईये समझाइये सज़ा दीजिये और ये चीज़ गलत है, मतलब गलत है।

याद कीजिये कि कुछ दिनों पहले भी तो आपने किसी अपने मित्र, दोस्त ,यार को कहा होगा कि बस यार बहोत हो गया अब मुझे इसे छोड़ना ही होगा, मै इसे छोड़ दूंगा लेकिन अभी तक इसे आप छोड़ नहीं पा रहे है।

क्यों ?

अपने आपसे प्रश्न कीजिये और याद रखिये कि सिर्फ आप के अलावा दुनिया में कोई ऐसा इंसान नहीं है जो आपके आदतों को छोड़वाने में आपकी मदद कर सकता है।

किसी भी ग़लत आदत को छोड़ने के लिए सकारात्मक रवैया अपनाना बहुत ज़रूरी है. अपना ध्यान ग़लत आदत से हटाने के लिए ख़ुद को बिज़ी रखें. ख़ुद को किसी मनपसंद एक्टिविटी, जैसे-खेल, बुक्स, मूवीज़ इत्यादि में व्यस्त रखें. कोशिश करें कि आपको अकेले न रहना पड़े।

आपको मदद एक ही इंसान कर सकता है और वो है आप खुद तो वादा कीजिये अपने आप से और छोड़ दीजिये इन आदतों को, ये बाते पसंद आयी हो तो शेयर जरूर करना।


Read Also :-

Share With Your Friends