इलॉन मस्क सफलता की कहानी – Elon Musk Success Story

इलॉन मस्क सफलता की कहानी

Elon Musk Success Story In Hindi Biography Tips In Hindi Elon Musk Successful Inspirational Speech Here, You Can Read Latest Collection Short Motivational Speech In Hindi For Students Life Lessons Motivational Quotes Success Story And Tips

Elon Musk Success Story In Hindi - इलॉन मस्क सफलता की कहानी।

अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता पर अकेला बंदा पहाड़ तोड़ सकता है। एक बंदा अमेरिका से रूस गया, पुरानी मिसाइल्स के खोके खरीदने ताकि उनसे कुछ ऐसा बना सके जो आज तक कोई नहीं बना पाया था “Rocket” ज़मीन से उड़ने वाला नहीं.. उड़कर फिर से ज़मीन पर आपने वाला रॉकेट।

ऐसा Rocket जो किसी ने सोचा भी नहीं होगा की पॉसिबल होगा। अगर किसी ने सोचा होगा तो उसके पास में आईडिया नहीं होगा की कैसे रॉकेट को ज़मीन पर वापस उतारना है और अगर किसी के पास में आईडिया भी होगा तो उसने किया नहीं होगा।

लेकिन ये बंदा जो रॉकेट की ABCD भी नहीं जनता था। जिसने किसी भी कॉलेज में कोई रॉकेट इंजीनियरिंग की डिग्री नहीं ली थी वो बंदा ऐसा रॉकेट बनाने चला था जो उस टाइम के रॉकेट बनाने वाली बड़ी-बड़ी कम्पनी को भी नहीं पता होगा। ज़मीन पर वापस उतरने वाला रॉकेट।

रॉकेट लांच तो कई साल से होते आये थे कोई रॉकेट को लैंड कर के दिखाए तो उसे बोलेंगे रियल दुनिया का रियल Iron Man.

इस बंदे से रूस वालो ने जरुरत से ज्यादा पैसे मांगे, यहाँ तक की कहा जाता है की रूस में जो इस बंदे की मीटिंग हुयी थी वहाँ की कमेटी के साथ में उस मीटिंग में उस बंदे का बहुत मज़ाक उड़ाया गया था यहाँ तक की ये भी कहा जाता है की उसके मुँह पर थूका भी गया था और इनको कहा गया की तेरी पास पैसे तो है नहीं और आ गया मिसाइल खरीदने।

ये बंदा बिना डील पूरी किये वापस अपने Country आ गया और उसी दिन से किताब उठा ली इस सवाल के जवाब में की मैं क्यों नहीं बना सकता रॉकेट।

मैं ऐसा रॉकेट बनाऊंगा जो की बहुत कम खर्चे में अंतरिक्ष में जा सके और इसके बाद ऐसा रॉकेट बनाऊंगा जो लांच के साथ-साथ ज़मीन पर वापस भी लैंड कर सके।

बंदे ने एक के बाद एक किताबे पढ़ डाली और शुरू कर दिया अपना पहला प्रोजेक्ट।

सन 2006 पहले लांच के 37 सेकंड के अंदर ही लांच के बाद रॉकेट वापस ज़मीन पर आकर गिर गया और ये गिरना ऐसा था की उस रॉकेट के टुकड़े-टुकड़े हो गए। प्रोजेक्ट फेल हो गया बंदा 4 साल से इसपर काम कर रहा था। 2002 से उसने काम शुरू किया था 2006 में उसका पहला प्रोजेक्ट फेल हो गया पैसो का बहुत नुक्सान हो गया।

बंदे ने फिर सवाल ढूढ़ने की कोशिश की यार कहा कमी रह गयी रॉकेट लांच क्यों नहीं हो पाया। एक साल बाद फिर से रॉकेट लांच किया फिर से वही हुआ मिशन फेल रॉकेट क्रैश पैसो का भारी नुकसान।

फिर एक साल बाद तीसरी कोशिश की और फिर वही हुआ मिशन फेल रॉकेट क्रैश पैसो का भारी नुकसान। एक के बाद एक करके इसके 3 प्रोजेक्ट फेल हो गए।

अब इस बंदे के पास में ना बड़ी मुश्किल से सिर्फ एक रॉकेट के जितने पैसे बचे थे या उतने भी नहीं बचे थे कह लो।

इतने अच्छे अच्छे इंजीनियर थे ना इस बंदे के पास में वो सब इन्हे छोड़ कर वापस चले गए। लेकिन इस बंदे में इतना जूनून था इतना होमवर्क इसने कर लिया था इस इसने सोचा की एक बार और Try करते है लेकिन इसके पास में इतने पैसे नहीं थे की ये अच्छे इंजीनियर को हायर कर सके और ये घटिया इंजीनियर को रखना नहीं चाह रहा था।

तो इसने Decide किया की जब मैंने इतनी पढ़ाई कर रखी है तो क्यों ना इस बाद प्रोजेक्ट का चीफ इंजीनियर मैं ही बन जाऊ वो बंदा खुद चीफ इंजीनियर था जिसने रॉकेट साइंस की कोई इंजीनियरिंग डिग्री नहीं ले रखी थी बड़ी अजीब सी बात थी और बड़ी रिस्की काम था ये और पैसो का पहले ही भारी नुकसान हो चूका था।

लेकिन इस बंदे की हिम्मत का नुकसान कोई नहीं कर पाया पूरी जान चौथी कोशिश ने लगा दी और उसके बाद में कुछ ऐसा हुआ ना जो आज तक कोई नहीं कर पाया। पूरी दुनिया ने एक नज़ारा देखा।

दुनिया का सबसे कम बजट में उड़ने वाला रॉकेट सफलता पूर्वक लांच हो गया था साइंस की दुनिया में ऐसा करना पहली बार नहीं हुयी थी लेकिन इतने कम बजट के अंदर किसी रॉकेट को लॉन्च करना पहली बार हुआ था।

ऐसा कर के दिखाया उस बंदे ने जिसको कोई रॉकेट बनाना नहीं सिखाया इस बंदे की कम्पनी को दुनिया SpaceX के नाम से जानती है और इसके रॉकेट में इतनी जान है ना की नासा ने भी अपनी कई Satellite SpaceX के जरिये अंतरिक्ष में भेजती है।

जब इस बंदे के तीन फेल लांच के बाद में चौथा लांच सफल हुआ ना तो सफल होते ही नासा वालो ने कहा की मुझे ये तुम्हारा रॉकेट चाहिए और Successful लांच के बाद में डील पक्की भी हो गयी क्योकि इसके पहले Satellite को लांच करने में नासा का बहुत खर्चा होता था

लेकिन ये बंदा यही पर नहीं रुकने वाला था बोला की अब ऐसा रॉकेट बनाऊंगा जिसको बार-बार यूज़ किया जा सके।

आम तौर पर क्या होगा है की जब किसी Satellite को Space में लांच करना होता है तो वह Satellite अंतरिक्ष में ले करके जाता है साथ-साथ में उसको Carry करने वाला रॉकेट भी उसके साथ में चला जाता है।

फिर आप उसको दुबारा यूज़ नहीं कर सकते क्योकि वो ख़त्म हो जाता है यूज़ करने लायक वो बचता ही नहीं है।

यानि की ये बंदा ऐसा रॉकेट बनाना चाहता था जो अंतरिक्ष में जाकर के अपना काम करके सुरक्षित ज़मीन पर वापस आ करके लैंड हो जाये। ताकि उस रॉकेट में सिर्फ Fuel भरना पड़े और फिर वो वापस स्पेस में जाने के लिए तैयार हो जाये।

जब इस बंदे ने 2011 में Announce किया की मैं लैंड करने वाला रॉकेट बनाना चाहता हूँ तो काफी लोगो ने इसकी मज़ाक बनाई। बड़े-बड़े लोगो ने कहा की ये फालतू का काम है।

क्योकि हवाई जहाज तो लैंड कर सकता है लेकिन रॉकेट को लैंड करवाना नामुनकिन है लेकिन इस बंदे के दिमाग में नामुमकिन नाम की कोई चीज़ नहीं थी।

इसके दिमाग में केवल जींद थी की मैं लैंड करने वाला रॉकेट जरूर बनाऊंगा सबको गलत साबित कर के बताऊंगा बंदे ने अगले 4 साल तक दिन-रात एक कर दी बहुत सारे Fail Rocket Waist कर दिए।

आखिर कार 2015 में पूरी दुनिया ने फिर से एक बार इस तरह का नज़ारा देखा जो वो आज तक सिर्फ हॉलीवुड की फिल्मो में देखते आयी है

इस बंदे ने लैंड करने वाला रॉकेट बना दिया। असंभव को संभव कर दिया और ये बंदा फिर नहीं रुका उस अंतरिक्ष में जाने वाले सेटलिटे Carrier रॉकेट को इसने पानी पर तैरते प्लेटफॉर्म पर बड़ी ही Accuracy के साथ में लैंड करके दिखाया।

रॉकेट अंतरिक्ष में जाता है और Satellite को Earth के Orbit में छोड़कर 10-12 मिनट में वापस आकर अपनी जगह पर खड़ा हो जाता है।

इस बंदे को अगर दुनिया का Iron Man  नहीं बोलेंगे तो फिर किसको बोलेंगे और क्या बोलेंगे ये वही बंदा था की जो बचपन में इतनी किताबे पढ़ डाली थी की एक समय ऐसा आया की इसके आस पास में किताबे कम पड़ने लगी।

लेकिन बंदे को पढ़ना था तो किताबो का स्टॉक ख़त्म होने के बाद में पूरा Encyclopedia भी पढ़ डाला ये बंदा आज दुनिया का सबसे अमीर इंसान बन चूका है।

यह बंदा जिसका यह कहकर मजाक उड़ाया गया था की तुम्हारे पास पैसे तो है नहीं और आ गए मिसाइल खरीदने आज इस बंदे की औकात इतनी बढ़ चुकी है ना की वो वैसे कमेंट करने वालो को लाखो बन्दों को खरीद सकता है और ये सच है की पैसा इंसान को खरीद लेता है।

और ये बंदा अमीर क्यों ना बने क्योकि ये Deserve करता है ”Elon Musk” नाम तो सुना होगा। इस नाम में जान है क्योकि इस नाम के पीछे जो बंद है ना उसके नॉलेज में जान है कहानी यही पर ख़त्म नहीं होती।

Elon Musk ऐसा बहुत सारे काम करना चाहते है जो आज सायद Impossible लगता है पर ये नहीं भूलना चाहिए की वो लैंडिंग वाला रॉकेट भी किसी टाइम पर इम्पॉसिबल लगता था इनेक बहुत सारे ऐसे प्रोजेक्ट चल रहे है जिनके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता।

इनमे से एक फेमस प्रोजेक्ट है हाइपर लूप इसमें ज़मीन पर हवाई जहाज से भी ज्यादा स्पीड पर ट्रेवल करने का Provision होगा ऐसी टेक्नोलॉजी होगी।

अब अपने देश की बात करते है जहा पर दुनिया के सबसे ज्यादा जवान लड़के और लड़किया है इतने ज्यादा की कई देशो की इतनी पापुलेशन नहीं है हमारे देश में भी टैलेंट की कोई कमी नहीं है जरुरत है तो सोच को विशन देने की विशन के लिए आईडिया Generate करने की और आईडिया को एक्शन में बदलने की।

Elon Musk का प्लान फ्यूचर में हम धरती के लावा भी कोई ऐसी जगह ढूढ़ना चाहते है ऐसी जगह पर बस्ती बनाना चाहते है जहा पर इंसान सुरक्षित रह सके क्योकि हो सकता है भविष्य में कोई एस्ट्रोइड धरती से टकरा जाये और धरती से मानवता ठीक उसी तरह से ख़त्म हो जाये जिस तरह से कई साल पहले डायनाशोर धरती से चले गए थे।

इसलिए इनके फ्यूचर के प्रोजेक्ट में एक प्रोजेक्ट ऐसा भी है की मंगल ग्राह पर इंसानो की बस्ती बनाई जाये। इनका विशन बड़ा तगड़ा है और ऐसा विशन हमारे युथ में होना बहुत जरुरी है

अगर ये बंदा कर सकता है ना तो आप समझ सकते ही की इंसान का दिमाग कितना पावरफुल है इंसान की हिम्मत कितनी पावरफुल है इंसान की Capability कितनी पावरफुल है और इंसान के लिए क्या Impossible है Elon Musk का मानना है की फेल होने से नहीं डरना चाहिए क्योकि फेल होना भी एक ऑप्शन होता है लेकिन काम ना करना कोई ऑप्शन नहीं होता।

ये खुद मानते है की एक हप्ते में लगभग 120 घंटे काम करते है अगर 7 से Divide करोगे ना तो लगभग 17 घंटे आएंगे एक दिन में निकलकर कितने बंदे तो इतना सोते होंगे।

इनका कहना है की मैं वो काम नहीं करता जो जरुरी है मैं वो काम करना हूँ की जो मुझे लगता ही की करना चाहिए।

ये कहते की अच्छे स्कूल और अच्छे कॉलेज में जाने से बंदा Educated नहीं हो जाता क्योकि मैं कभी भी Harvard यूनिवर्सिटी में नहीं पढ़ा फिर भी वहाँ पढ़ चुके कई टैलेंटेड स्टूडेंट्स और इंजीनियर मेरे अंदर में काम करते है ये।

इनका कहना है की Extraordinary बनने का हर इंसान के पास एक मौका होता है इनका ये भी कहना है की अगर आप फेल नहीं हो रहे हो तो इसका मतलब आप लाइफ में कुछ कर ही नहीं रहे हो।

हर लड़का और लड़की को आज ये बात समझनी पड़ेगी की उनको आज से डेट में क्या करनी चाहिए क्या उनको वो करना चाहिए जो लगता है की जरुरी है या उनको वो करना चाहिए जो लगता है की उनको करना चाहिए।

इंसान तब ज्यादा बेहतर कर पाता है जब उसको पता होता है की उसको क्या करना चाहिए।Elon Musk को किसी ने रॉकेट साइंस नहीं पढ़ाई थी ये उनको लगा की उनको रॉकेट साइंस पढ़नी चाहिए तो उन्होंने खुद पढ़ी क्योकि इनको पता था की इनको क्या करना चाहिए।

आज के डेट में हर बंदे के लिए कुछ करना मुश्किल नहीं है मुश्किल है तो उसके पास में कोई Goal ही नहीं है उसको पाता ही नहीं है की उसको करना क्या है। लक्ष्य निर्धारित ना करना सबसे बड़ा प्रॉब्लम है फेल होना कोई प्रॉब्लम नहीं है

Elon Musk  का मानना है की नॉइज़ से ध्यान हटाकर Signal की तरफ ध्यान देना चाहिए। उनका मानना है की Problem कोई प्रॉब्लम नहीं होती प्रॉब्लम का सलूशन ढूढ़ना एक प्रॉब्लम है शब्दो में थोड़ा सा फेर बदल करने से पूरा वाक्य का अर्थ बदल जाता है और Mind में थोड़ा सा विशन आपकी पूरी ज़िंदगी बदल कर रख सकती है।

अगर आपकी लाइफ में कोई प्रॉब्लम नहीं है ना तो प्रॉब्लम क्रिएट करो खुद के लिए और वो कैसे करोगे एक बड़ा लक्ष्य निर्धारित करके।

हमारे देश के युवाओ को आज इस क्रांतकारी मनुष्य से सिखने की जरूरत है हलाकि ये भी सच है हमारा देश ऐसे क्रन्तिकारी युवाओ से भरा पड़ा है बस उनको अपने आप की पहचानने की जरूरत है वो बंदे भी Elon Musk की तरह कुछ ऐसा कर सकते है जो कोई सोच भी नहीं सकता।

दम है तो कुछ बड़ा करके दिखाओ। देश में अपना नहीं बल्कि दुनिया में देश का नाम कर जाओ।

।। जय हिन्द वन्दे मातरम।।


Read Also :-

Share With Your Friends