रॉबर्ट डॉनी जुनियर सफलता की कहानी – Robert Downey Jr. Success Story

रॉबर्ट डॉनी जुनियर सफलता की कहानी

Robert Downey Jr. Success Story In Hindi Biography Iron Man Net Worth Upcoming Movies Age Here, You Can Read Latest Collection Short Motivational Speech In Hindi For Students Life Lessons Motivational Quotes Success Story And Tips

रॉबर्ट डॉनी जुनियर सफलता की कहानी - Robert Downey Jr. Success Story In Hindi

कहते है यदि किसी इंसान के अंदर काबिलियत हो उसका दिल सच्चा हो और उसे खुद पर विश्वास हो तो पूरी दुनिया की कोई ताकत उसे हरा नहीं सकती और इसी बात को पूरी दुनिया को मनवाया रॉबर्ट डॉनी जुनियर (Robert Downey Jr.) ने जिन्हे आप आयरन मैन या फिर टोनी स्टार्क के नाम से जानते है।

आज वो बहुत ज्यादा सफल है, लेकिन उनकी सफलता के पीछे कितनी सारी विफलताएं है, उसके बारे में बहुत कम लोग जानते है, वो सिर्फ 6 साल के थे जब उन्होंने पहली बार ड्रग लिया क्यू ?

क्योकि उनके पिता भी बहुत ज्यादा ड्रग का सेवन किया करते थे और वही से उनको धीरे धीरे करके आदत लगने लगी 8 साल की उम्र आते आते वो पूरी तरीके से ड्रग एडिक्ट बन गए थे।

रॉबर्ट का जीवन बहुत ही मुस्किलो से गुजरा, क्योकि बचपन में ही उनके माता-पिता का तलाक हो गया था। शुरू में वो अपने पिता के साथ रहे लेकिन जब बहुत ज्यादा ड्रग एडिक्शन हो गया तो उसके बाद वो अपनी माँ के साथ रहने लगे।

रॉबर्ट सिर्फ 5 साल के थे जब वो उन्होंने पहली बार अपने पिता की फिल्म में अदाकारी की थी और उसके बाद कई बार उन्होंने अपने पिता की फिल्म में रोल अदा किये 1992 तक उन्होंने बहुत सारी अच्छी फिल्मो में काम किया और उसके लिए बहुत कड़ी मेनहत की 1992 में उन्होंने चैप्लीन मूवी की जिसके अंदर उन्होंने चार्लीन चैप्लिन का रोल अदा किया जिसके लिए बाद में उन्हें एकादमी पुरस्कर के लिए नॉमिनेट भी किया गया।

लेकिन 1993 से लेकर 2001 के बीच में उन्हें कई बार नशीले पदार्थो के चक्कर में गिरफ्तार किया गया जब वो पहली बार जेल गए तो उन्हें कैदियों के द्व्रारा इतना ज्यादा पीटा गया की वो बेहोश हो गए और जब वो उड़े तो उन्होंने अपने आपको एक खून के टब में सोया हुआ पाया।

उन्हें बहुत बार लम्बे-लम्बे समय के लिए नशा मुक्ति केंद्र में रखा गया लेकिन हर बार वो असफल लौटे एक बार उन्होंने जज के सामने कहा था, की ये इस तरह है जैसे मानो मैंने अपने मुँह में एक बन्दूक की नली घुसाई रखी है और इसका ट्रिगर मेरे ही हांथो में है बस इसलिए क्योकि मुझे गनमेटल का स्वाद अच्छा लगता है।

उन्होंने अपने मज़बूरी समझाते हुए कहा की ये आदत उन्हें 8 साल की उम्र से है क्योकि उनके पिता भी नशा किया करते थे 1996 में उन्हें हीरोइन , कोकेन और बन्दूक के साथ गिरफ्तार किया था।

 1 महीने बाद उन्हें पैरोल मिली लेकिन उसके बाद भी उन्होंने नशा करना नहीं छोड़ा और वो पडोशी के घर सोये हुए मिले इन सबके चलते उन्हें 3 साल तक इस लत को छुड़वाने और आवश्यक ड्रग टेस्टिंग की सजा सुनाई गयी 1997 में फिर से एक बार टेस्टिंग हुयी जिसको देने में वो असमर्थ रहे और उसके बाद उन्हें 4 महीने की फिर से सजा हो गयी।

कहानी यही पर रुकने वाली नहीं थी 1999 में उनका फिर से एक बार ड्रग टेस्ट हुआ जिसमे वो फिर से फेल हो गए और इसके लिए उन्हें 3 साल तक एब्यूज ट्रीटमेंट और फैसिलिटी एंड स्टेट प्रिज़न में कैद की सजा सुनाई गयी फिर एक साल जेल में रहने के बाद उन्हें 5000 डॉलर चुकाकर बेल पर रिहा किया गया।

लेकिन इसके बाद भी कई बार गिरफ्तार होते रहे इसी बीच में उनका फिल्म कर्रिएर भी चल रहा था उनकी कई सारी मूवीज रिलीज हो गयी थी और लोग उन्हें बहुत ज्यादा पसंद करते थे।

उनकी अदाकारी के लिए 1992 में उनकी पहली शादी हुई थी डेबोराह से लेकिन बार-बार इन घटनाओ के चलते वो भी उनसे परेशान हो गयी और 2004 में जब वो जेल से बाहर आये उसके बाद डेबोराह ने भी उन्हें तलाक के कागज भेज दिए और उनका तलाक हो गया।

लेकिन फिर 2005 में उनकी ज़िन्दगी में आयी सुजैन जिनसे उन्हें पहली ही नज़र में ही प्रेम हो गया लेकिन उसके बाद सुजैन ने कहा कि यदि तुम मेरे साथ रहना चाहते हो तो एक शर्त होगी और वो शर्त ये होगी कि या तो तुम मेरे साथ रह सकते हो या फिर ड्रग्स ले सकते हो और उसके बाद रॉबर्ट ने सिर्फ सुजैन को चुना और उसके बाद मानो उनकी ज़िन्दगी कि एक नई शुरुआत हुई।

5 वर्षो के नशीले पदार्थ के सेवन और गिरफ्तार और इलाज के बाद रॉबर्ट आख़िरकार वापस पूर्णतः ठीक होकर अपने कर्रिएर में वापस मुड़े उसके बाद उन्होंने 2004 से 2008 तक बहुत सारी फिल्मों में काम किया।

लेकिन ऐसी कोई फिल्म नहीं थी जहां से उन्होंने बहुत बड़ा नाम कमाया हो लेकिन उसके बाद 2008 में आयी एक ऐसी मूवी जिसने सभी के दिलों पर राज़ किया और वो मूवी इतनी Successful बनी कि उसके बाद आप सभी रॉबर्ट को आज आयरन मैन या टोनी स्टार्क के नाम से जानते है।

आइरन मैन 1 से लेकर एवेंजर एन्ड गेम तक उन्होंने बहुत सारी फिल्मे कि और उन्होंने दुनिया को ये बता दिया की इंसान के अंदर अगर काबिलियत हो उसका दिल सच्चा हो और उसे खुद पर विश्वाश हो और खुद को सुधारने की छमता हो तो उसे इस दुनिया की कोई ताकत नहीं हरा सकती।

हम सभी के जीवन में भी ऐसी कई बार मुसीबते आती है जिससे हम हार कर बैठ जाते है, रोने लगते है, परेशान होने लगते है, कई बार जीवन में गलती हमारी होती है कई बार दुसरो की होती है लेकिन ये जीवन सिर्फ और सिर्फ हमारा है किसने हमारे साथ क्या किया या इस बात को कहने से हमारा जीवन नहीं बदल जायेगा।

हमारा जीवन सिर्फ तभी बदलेगा जब हम उन गलतियों को सुधार कर अपने आप पर विश्वाश करके जीवन में सिर्फ आगे की ओर बढ़े गिरना बुरी बात नहीं है लेकिन गिरकर ना उठना बुरी बात है।

तो आज अपने आप से एक वादा कीजिये की चलेंगे गिरेंगे लेकिन गिरकर फिर से उठेंगे और जीवन में आगे ही बढ़ते रहेंगे।


Read Also :-

Share With Your Friends