शाहरुख़ खान सफलता की कहानी – Shahrukh Khan Success Story

शाहरुख़ खान सफलता की कहानी

Shahrukh Khan Success Story In Hindi Biography Net Worth Age Wife Salman Khan Story Here, You Can Read Latest Collection Of Short Motivational Speech In Hindi For Students Life Lessons Motivational Quotes Success Story And Tips

Shahrukh Khan Success Story In Hindi - शाहरुख़ खान सफलता की कहानी।

आज मै बात कर रहा हूँ अपनी शानदार एक्टिंग के बदौलत भारत के सिनेमा जगत में दसको से राज कर रहे और लोगो में अपने रोमांटिक रोल्स के लिए पहचाने वाले मशहूर एक्टर शाहरुख़ खान की जिन्हे उनके काबिलियत की वजह से किंग ऑफ़ बॉलीवुड भी कहा जाता है।

एक समय पर दिल्ली का ये आम लड़का जिसको न कोई जानता था और न ही कोई पहचानता था आज इतना मशहूर हो चूका है की भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में उनकी एक्टिंग का लोहा माना जाता है।

शाहरुख़ खान 100 से भी ज्यादा फिल्मो में काम कर चुके है और अब तक 15 से भी ज्यादा फिल्म फेयर अवॉर्ड भी जीत चुके है साथ ही उनकी गिनती दुनिया के सबसे अमीर एक्टर में की जाती है।

तो चलिए हम जानते है की किस तरह से एक आम लड़का अपने जूनून और काबिलियत के दम पर आज करोड़ो के दिलो पर राज कर रहा है।

इस कहानी की शुरुआत होती है 2 नवंबर 1965 से जब दिल्ली के एक मुश्लिम परिवार में शाहरुख़ खान का जन्म हुआ, उनके पिता का नाम मीर तेज़ मोहम्मद था तो की एक स्वतंत्रता सेनानी थे और उनके माँ का नाम लतीफ़ फातिमा था।

वैसे तो भारत पाकिस्तान के अलग होने से पहले उनका परिवार पेशावर में रहता था लेकिन 1948 में जब देश का विभाजन हुआ तो उनके पिता अपने परिवार के साथ दिल्ली में आकर बस गए। शाहरुख़ खान का बचपन राजिंदर नगर के इलाके में बिता जहा उनकी फैमिली एक किराये के मकान में रहती थी और उनके पिता एक रेस्टोरेंट चलाया करते थे।

शाहरुख़ खान ने अपनी शुरुआती पढ़ाई दिल्ली के सेंत कोलम्बिअस से की और पढ़ाई में अच्छे होने की वजह से उन्होंने स्कूल का सबसे बड़ा अवॉर्ड सोर्ड ऑफ़ ऑनर भी जीता था।

लेकिन सिर्फ 16 साल की उम्र में शाहरुख़ खान के जीवन में एक दुखद पल तब आया जब उनके पिता की मृत्यु हो गयी हलाकि इतने कम उम्र में पिता के खोने के बाद भी शाहरुख़ के अंदर परेशानियों से लड़ने का जज्बा कभी भी ख़त्म नहीं हुआ।

उन्होंने 1985 में हंसराज कॉलेज में एडमिशन ले लिया जहा पर उन्होंने एक थिएटर ग्रुप ज्वाइन किया और उस ग्रुप में रहते हुए बैरी जहां के अंतर्गत एक्टिंग सीखी।

इसके बाद शाहरुख़ मास कम्युनिकेशन में मास्टर डिग्री लेने का फैसला किया लेकिन एक्टिंग के लिया पढ़ाई बिच में छोड़ दी और फिर इसी बिच उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा में भी एडमिशन लिया जहा पर वे एक्टिंग के गुण सीखते रहे।

शाहरुख़ खान का पहला रोल टीवी सीरीज दिल दरिया में था लेकिन कुछ प्रोडक्शन परेशानियों के चलते यह टीवी सीरीज एक साल के बाद रिलीज़ हुआ और इसी बिच शाहरुख़ खान फौजी नाम के एक टीवी सीरियल में काम कर लिया था तो इस तरह से इनका टेलीविज़न डेब्यू एक टीवी से मिला।

इसके बाद इन्होने कई और टीवी सीरीज की जैसे सर्कस, वागले की दुनिया, इडियट और उम्मीद में काम किया और उस टाइम में शाहरुख़ खान ने जिस तरीके से एक्टिंग की थी उनकी तुलना लोगो ने लेजेंड्री दिलीप कुमार से करनी सुरु कर दी थी।

फिर 1991 में उन्होंने अपने प्रेमिका गौरी के साथ शादी कर ली, गौरी और शाहरुख़ खान के बिच पिछले कई दिनों से प्रेम सम्बन्ध थे लेकिन कई सारी रूकावट और परेशानियों का सामना करने के बाद यह रिस्ता संभव हो पाया था।

शाहरुख़ खान का एक्टिंग करियर अभी सुरु ही हुआ था की फिर और एक बड़ा सदमा लगा जब 1991 में उन्होंने अपनी माँ को भी खो दिया और फिर वो इस दुःख को भुलाने के लिए मुंबई चले गए और अपने आप को एक्टिंग में पूरी तरह से झोख दिया।

मुंबई जाकर उनकी किस्मत भी उनका साथ दिया और एक्टिंग को देखते हुए उन्हें कई सारे फिल्मो में काम करने को भी मिल गया जैसे की सबसे पहले उन्हें हेमा मालिनी के डायरेक्शन में दिल आशना है के नाम के फिल्म में शाइन किया गया। यह हेमा मालिनी का एक डायरेक्टर के तौर पर डेब्यू फिल्म था।

लेकिन 1992 में रिलीज दीवाना मूवी शाहरुख़ खान की डेब्यू फिल्म बनी इस मूवी में उनके साथ उस टाइम के स्टार एक्टर ऋषि कपूर ने भी काम किया था और फिर दीवाना बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुयी और इसने शाहरुख़ खान के बॉलीवुड करियर को एक अच्छा स्टार दिया।

एक मूवी के लिए उन्हें Film Fair The Best Male डेब्यू से नवाजा गया। 1992 में इसके अलावा इनकी तीन और भी फिल्मे आयी चमत्कार, दिल आशना है और राजू बन गया जेंटलमैन

1993 में शाहरुख़ ने अपनी लीक से हट कर रोल किये और इसी साल उनकी दो और फिल्म डर और बाज़ीगर आयी जिसमे की वे हीरो की जगह विलेन की भूमिका निभाते हुए नज़र आये और लोगो ने भी उनकी एक्टिंग की खूब तारीफ की।

बाज़ीगर में उनकी अलग किरदार और शानदार एक्टिंग की वजह से उनको फिल्म फेयर अवार्ड फॉर द बेस्ट एक्टर मिला और इस तरह से बॉलीवुड में कदम रखकर सिर्फ दो साल के अंदर ही शाहरुख़ खान ने अपनी एक्टिंग के जरिये पूरी दुनिया में छा गए और फिर आगे शाहरुख़ खान कई सारे फिल्मो में विलेन का किरदार निभाते हुए नज़र आये।

कोई भी एक्टर सुरु में अपने विलेन वाले किरदार करने से बचता है लेकिन शाहरुख़ खान उसके बिलकुल विपरीत काम कर रहे थे और वो हर चैलेंजिंग रोल करके लोगो के बिच फेमस होते जा रहे थे।

1995 में शाहरुख़ खान ने कुल 7 फिल्मो में काम किया जिनमे से उनकी सफल फिल्म कारन अर्जुन, और दिल वाले दुल्हनिया ले जायेंगे शामिल थी और वही ये मूवी थी जिसके बाद लोगो में शाहरुख़ खान की एक रोमांटिक छवि बन गयी।

इस फिल्म ने कुल 10 फिल्म फेयर अवॉर्ड जीते थे जिनमे से शाहरुख़ खान को दूसरी बार बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला इसके बाद से शाहरुख़ ने अलग-अलग फिल्मो में अहम् भूमिका निभाई और 1998 में करन जोहर के डायरेक्शन में आयी फिल्म कभी ख़ुशी कभी गम में एक्टिंग में उन्हें एक बार फिर से फिल्म फेयर में उन्हें बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला और इसी तरह शाहरुख़ ने 15 फिल्म फेयर अवॉर्ड से भी ज्यादा जीते है।

फिर आगे शाहरुख़ खान ने बहुत सारी फिल्मो में काम करते रहे जिनमे से कुछ सुपर हिट रही तो कुछ फ्लॉप भी रही। 1999 में शाहरुख़ खान ने जूही चावला के साथ एक प्रोडक्शन हाउस खोला और इस तरह से वो एक प्रोडूसर भी बने।

उनके प्रोडक्शन हाउस द्वारा बनाये गए पहली फिल्म फिर भी दिल है हिंदुस्तानी बॉक्स ऑफिस पर एक फेलियर साबित हुयी इसके बाद 2001 में शाहरुख़ खान के प्रोडक्शन हाउस की दूसरी फिल्म अशोका भी बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप हो गयी और एक एक्टर काफी सफल रहे शाहरुख़ खान एक प्रोडूसर के तौर पर कमाल करने में नाकाम रहे थे।

तभी 2001 दिसम्बर शक्ति द पावर फिल्म शूटिंग के दौरान पीठ में चोट लग गयी और उस चोट की वजह से उनकी पीठ में काफी दर्द रहने लगा था और जब इसका इलाज भारत में न हो सका तो उन्होंने लंदन में जाकर ट्रीटमेंट करवाया और फिर भारत वापसी के बाद उन्होंने कम से कम प्रेशर में काम करने का डिसिशन लिया।

हलाकि इसी दौर में मोहब्बते, कभी ख़ुशी कभी गम और देवदास जैसे उन्होंने कई सारी हिट फिल्मे की और फिर आगे उन्होंने स्वदेस, वीर-ज़ारा, पहेली, डॉन, चक दे इंडिया, माय नाम इस खान, चेन्नई एक्सप्रेस, रा-वन, और हैप्पी न्यू ईयर जिसे बहुत सारी हिट फिल्मो में काम किया और अपनी एक्टिंग का जादू बिखेरा।

शाहरुख़ खान एक एक्टर होने के साथ-साथ एक बिजनेसमैन भी है वे रेड चिल्लिएस, एंटरटेनमेंट प्रोडक्शन कम्पनी के मालिक है साथ ही वे जूही चावला और उनके पति के साथ पार्टनर में IPL के टीम कोलकाता के ओनर है और फ़िलहाल शाहरुख़ की कुल संपत्ति 5000 करोड़ के आस-पास है जिस वजह से वे दुनिया के सबसे अमीर एक्टर में सुमार किये जाते है।

उम्मीद है किंग ऑफ़ बॉलीवुड शाहरुख़ खान की यह सक्सेस स्टोरी आपको जरुरु पसंद आयी होगी।

।।धन्यवाद।।

Q. शाहरुख़ खान के परिवार में कौन कौन है?

शाहरुख़ खान के परिवार में उनकी पत्नी गौरी खान और उनके तीन बच्चे आर्यन खान, अबराम खान और सुहाना खान है।

Q. शाहरुख़ खान के माता पिता का क्या हुआ?

शाहरुख़ खान के पिता का नाम मीर तेज़ मोहम्मद था तो की एक स्वतंत्रता सेनानी थे और उनके माँ का नाम लतीफ़ फातिमा था। शाहरुख़ खान जब 16 साल के थे तभी उनके पिता जी की मृत्यु हो गयी थी और 1990 में लम्बी बीमारी के कारण उनकी माँ का भी निधन हो गया था।

Q. शाहरुख़ खान का घर कहा है?

मन्नत, लैंड्स एंड, बैंडस्टैंड, बांद्रा (पश्चिम), मुंबई, महाराष्ट्र – 400050

Q. शाहरुख़ खान के पास कितनी संपत्ति है?

एक रिपोर्ट के अनुसार रॉयल लाइफ जीने वाले किंग शाहरुख़ खान के पास 4440 करोड़ की संपत्ति है।


Read Also :-

Share With Your Friends