What Is Real Happiness In Hindi – असली ख़ुशी क्या है?

What Is Real Happiness In Hindi

What Is Real Happiness In Hindi In Life Where I Can Find Happiness Khushi Kya Hai Motivational Speech In Hindi For Students Success In Hindi असली ख़ुशी क्या है और कहाँ से मिलेगी। Here, You Can Read Latest Collection Short Motivational Speech In Hindi For Students Life Lessons Motivational Quotes Success Story And Tips

What Is Real Happiness In Hindi - असली ख़ुशी क्या है?

असली ख़ुशी क्या है – जैस ही हमने एक मनुष्य के रूप में जन्म लिया किसी ना किसी तरह हमारा जीवन जटिल हो गया। अगर हम इस ग्रह पर किसी अन्य प्राणी के रूप में आये होते तो जीवन बहुत सरल होता। खाना सोना बच्चे पैदा करना और एक दिन मर जाना। अब हमे वो सारी चीज़े करनी है लेकिन किसी ना किसी तरह आप अभी जहां है चाहे जहां भी हो वो पर्याप्त नहीं है है ना !

आप अभी जो है आप उससे अधिक होना चाहते है, अगर आप सिर्फ पैसे जानते है तो आप थोड़ा अधिक पैसे के बारे में सोच रहे होंगे। अगर आप केवल सुख जानते है तो थोड़ा और अधिक सुख ताक़त थोड़ी और ताक़त हर कोई अपने मौजूदा स्थिति से थोड़ा अधिक होने की चाहत कर रहा है।

इच्छा की प्रक्रिया लगातार चल रही है चाहे आप काम पर जा रहे है, या आप शराब पिने जा रहे है, या आप मंदिर जा रहे है या आपकी शादी हो रही है, या आप बच्चे पैदा कर रहे है, या आप यूनिवर्सिटी में पढ़ रहे है जीवन के सभी प्रयाश सबकुछ ख़ुशी के ही खोज में ही था।

पिछले 100 सालो से विज्ञानं और तकनीक का इस्तेमाल करके हमने इस गृह का चेहरा ही बदल दिया। आज हमारे पास ऐसी सुख सुविधाएं है जिनकी कोई दूसरी पीढ़ी कभी कल्पना भी नहीं कर सकती थी हम निश्चित रूप से इस गृह पर अब तक की सबसे ज्यादा आराम से जीने वाली पीढ़ी है लेकिन क्या हम सबसे ज्यादा खुशहाल पीढ़ी है।

हर प्राणी में पेड़ पौधों से लेकर जानवरो तक और इंसानो में भी इन सुख सुविधाओं के बनाने के लिए एक बहुत बड़ी कीमत चुकाई है और हम खुश भी नहीं है फिर इसका क्या फायदा है। हमने आज दुनिया को कई तरीको से इंजीनयर किया है ताकि हमारे लिए बेहतर तरीके से काम करें है ना !

हमने अपने बारे में कुछ नहीं किया इस चीज़ पर ध्यान देने का समय आ गया है। पिछले 24 घंटो में आपने ख़ुशी का कितने पलों का अनुभव किया है जब आप 5 साल के थे जब आप बच्चे थे तब आप ख़ुशी के कितने पल लो अनुभव करते थे। किसी तरह पूरा समीकरण ही पलट गया है।

इससे कोई फरक नहीं पड़ता आप कहाँ है चाहे आप एक महल में बैठे हो या स्वर्ग में लेकिन अगर आपकी भीतरी स्थति ठीक नहीं है तो वो कोई माईने नहीं रखता। ये मन परमानेंट का श्रोत हो सकता था लेकिन ज्यादा तक लोगो के लिए ये मन दुःख का श्रोत बन गया है। तनाव चिंता डिप्रेशन क्यों आप बस इसे सम्भलना नहीं जानते।

देखिये आपके जीवन में केवल एक ही समस्या है जीवन उस तरह से नहीं हो रहा जैसा आप सोचते है की जैसे उसे होना चाहिए यही एक मात्र समस्या है क्या कोई और समस्या है।

आपके आस पास कोई भी ऐसा इंसान वैसा नहीं होगा जैसा आप चाहते है है की नहीं ! कोई भी वैसा नहीं है जैसा आप चाहते है कोई बात नहीं।

समस्या ये है की ये इंसान ऐसा नहीं है जैसा आप चाहते है यही समस्या है है ना ! लोगो ने निष्कर्ष निकाल लिया है की तनाव उनके जीवन का एक हिस्सा है तनाव आपके जीवन का हिस्सा नहीं है बात सिर्फ इतनी है की आप अपने शरीर को मैनेज करना नहीं जानते, आप अपने मन को मैनेज करना नहीं जानते, आप अपनी भावनाओ को मैनेज करना नहीं जानते और ना ही अपने जीवन उर्जाओ को सब कुछ सयोग से हो रहा है अगर चीज़ी को वैसा होना है जैसा आप चाहते है तो दुनिया के मामले में आप ये समझने लगे है की आपको इंन्जीनिर करना होगा यह आपके साथ भी लागु होता है।

आपके लिए कोई इंजीनिरिंग नहीं की गयी है। आप बस सयोग से जीने की कोशिश कर रहे है अब मैं आपके ऊपर केमिस्ट्री बनाने की बात कर रहा हु जहां संत और खुश होना आपके लिए स्वाभाविक है।


Read Also :-

Share With Your Friends